Thursday, September 24, 2020
Home Blog MUTUAL FUND IN INDIA

MUTUAL FUND IN INDIA

- Advertisement -

Mutual Fund को हिन्दी में “पारस्परिक निधि” कहते हैं । यह एक प्रकार का सामूहिक निवेश होता है । मार्केट में जब कोई “फण्ड हाउस” कोई योजना चलाता है तो उसके अपने कुछ नियम और शर्तें होती हैं जिसकी जानकारी वह “सिक्योरिटी एण्ड एक्सचेन्ज बोर्ड आफ इण्डिया (SEBI)” को अवश्य देता है, जिस दस्तावेज के माध्यम से यह जानकारी SEBI को जानकारी देता है उसे “स्कीम का आफर डाक्यूमेन्ट” कहते हैं । इस डाक्यूमेन्ट में इन्वेस्टमेन्ट का उद्देश्य, जोखिम कारक आदि पर्याप्त जानकारियां दी हुई होती हैं ।

भारत में म्यूचुअल फण्ड की शुरुआत 1964 ई0 में भारत सरकार तथा भारतीय रिजर्व बैंक के संयुक्त प्रयास से   UTI (Unit Trust Of India) की स्थापना के साथ हुई है जिसका उद्देश्य भारत की आर्थिक विकास गति को तेज करना है । UTI (Unit Trust Of India) भारत का अग्रणी म्यूचुअल फण्ड है जिसका नियन्त्रण Unit Trust Of India Act 1963 के द्वारा होता है  ।

- Advertisement -

1987 ई0 में म्युचुअल फण्ड कारोबार में सरकारी बैंकों तथा बीमा कम्पनियों को भी सम्मिलित किया गया । 06 सरकारी बैंक तथा 02 बीमा कम्पनियां  ( LIC तथा  GIC) ने भी अपने-अपने म्युचुअल फण्ड कारोबार संचालित करना आरम्भ कर दिये ।

1964 ई0 से 1988 ई0 तक Unit Trust Of India भारतीय बाजार में “सबसे बडा म्युचुअल फण्ड” था जिसके पास 1988 ई0 के अन्त तक लगभग 6,700 करोंड रूपये की सम्पत्ति थी ।

- Advertisement -

सिक्योरिटी एण्ड एक्सचेन्ज बोर्ड आफ इण्डिया (SEBI) ने 1993 ई0 में पहली बार “Mutual Fund and Asset Management Compnies” के लिए ढांचा परिभाषित किया । 1993 से 1994 ई0 तक कई निजी एवं विदेशी वैंक भी आये तथा कई नए Mutual Fund की स्थापना हुई जिससे भारतीय बाजार में Mutual Fund में काफी बढोत्तरी हुई । निजी क्षेत्र का पहला Mutual Fund “कोठारी पायोनियर म्यूचुअल फण्ड” था । सन 2000 ई0 तक भारतीय बाजार में कुल 32 म्युचुअल फण्ड स्थापित हो गया तथा Mutual Fund में काफी बढोत्तरी हो गयी । वर्ष 2006 ई0 तक भारतीय बाजार में म्युचुअल फण्डों की संख्या 34 हो गयी । वर्तमान समय में भारत में 10 सर्वश्रेष्ठ म्युचुअल फण्ड कम्पनियां –  एस0बी0आई0 म्युचुअल फण्ड (स्थापना- 1987 ई0), एच0डी0एफ0सी0 म्युचुअल फण्ड (स्थापना- सन् 2000ई0), आई0सी0आई0सी0आई0 प्रूडेंशियल म्युचुअल फण्ड (स्थापना- सन् 1993 ई0), रिलायन्स म्युचुअल फण्ड (स्थापना- सन् 1995 ई0), आदित्य बिडला सन आफ  म्युचुअल फण्ड , डी0एस0पी0 ब्लैकराल म्युचुअल फण्ड, बांक्स म्युचुअल फण्ड (स्थापना- सन् 1998ई0), टाटा म्युचुअल फण्ड, प्रधान म्युचुअल फण्ड तथा एल0एण्ड टी0 म्युचुअल फण्ड(स्थापना- सन् 1997 ई0) हैं । वर्तमान समय में विकसित देशों की तरह भारत में भी म्युचुअल फण्ड में काफी तेजी से निवेश बढ रहा है ।

- Advertisement -
Previous articleWhat is NIFTY ?
Next articlemutual fund

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

What is Solution In Science ?

विलयन क्या है ? यह दो या दो से अधिक पदार्थों का समांग मिश्रण है जो स्थायी एवं पारदर्शक होता है । विलेय कणों का...

अर्थशास्त्र (ECONOMICS)

अर्थशास्त्र (ECONOMICS) क्या है ? सामाजिक विज्ञान की वह शाखा जिसके अंतर्गत वस्तुओं तथा सेवाओं के उत्पादन, वितरण, विनिमय एवं उपभोग का अध्ययन किया जाता...

विशेषज्ञों की राय के मूल्यांकन के सम्बन्ध में माननीय न्यायालयों के विभिन्न निर्णय (Various Judgements of Hon,ble Courts in related valuation of Expert...

रुकमानन्द अजीत सारिया बनाम उषा सेल्स प्राइवेट लिमिटेड ए0 आई0 आर0 1991 एन0 ओ0 सी0 108 गुवाहाटी में माननीय उच्च न्यायालय द्वारा पारित निर्णय...

शिक्षाशास्त्र (PEDAGOGY)

शिक्षाशास्त्र (Pedagogy) क्या है ? शिक्षण कार्य की प्रक्रिया के भलीभांति अध्ययन को शिक्षाशास्त्र (Pedagogy) या शिक्षण शास्त्र कहते हैं । इसके अन्तर्गत अध्यापन की...
Would you like to receive notifications on latest updates? No Yes