Miscellaneous

परीक्षा के लिए याददाश्त बढ़ाने के 5 बेहतरीन उपाय

परीक्षा के लिए याददाश्त बढ़ाने के 5 बेहतरीन उपाय  

हर विद्यार्थी चाहता है कि वह परीक्षा में अधिक के अधिक अंक अर्जित करे, टाप करे जिससे उसका नाम, उसके विद्यालय, परिवार, गांव, समाज, जिले, राज्य व देश में रोशन हो परन्तु यह अवसर सभी को नसीब नही होता। परीक्षा के दिनों में प्रायः विद्यार्थी पढ़ाय़ी के दबाव में आ कर अपने खान पान तथा दिनचर्या की उपेक्षा करने लगते हैं जिससे वह अस्वस्थ हो जाते हैं तथा उनका शारीरिक व मानसिक विकास प्रभावित होने लगता है। जिसके कारण वे पढ़े हुए टापिक भी उसे भूल जाते हैं तथा परीक्षा में अपेक्षित अंक अर्जित करने से वंचित रह जाते हैं। परीक्षा में अपेक्षित अंक अर्जित करने के लिए कुसाग्र स्मरण शक्ति / याददाश्त होना परम आवश्यक है जिसके लिए शारीरिक व मानसिक रूप से स्वस्थ होना भी परम आवश्यक हैं। शारीरिक व मानसिक रूप से स्वस्थ व्यक्ति में ही कुसाग्र अर्थात तीव्र स्मरण शक्ति / याददाश्त का वास होता है। प्रस्तुत लेख में स्मरण शक्ति / याददाश्त बढ़ाने के लिए कुछ अति महत्वपूर्ण तरीके प्रकाशित किये जा रहें हैं जिन्हे अपना कर तेजी से याददाश्त बढ़ायी जा सकती हैं।

1. भोजन में हरी सब्जियों, मौसमी फलों व दूध का नियमित सेवन किया जायः

भोजन में नियमित रूप से हरी सब्जियों हरी प्याज, मेथी, सोया, पालक, पत्ता गोभी, टमाटर, शिमला मिर्च, गाजर, चुकन्दर, धनिया, कददू, लौकी एवं फूलगोभी और मौसमी फल सेब, सन्तरा, अंगूर, स्ट्राबेरी, ब्लूबेरी, अमरूद आदि तथा दूध व जैतून या तिल के तेल का समुचित प्रयोग किया जाय। इन सब्जियों, फलों तथा दूध के नियमित सेवन से विटामिन-ए, विटामिन-बी1 विटामिन-बी2, विटामिन-बी6, विटामिन-12, विटामिन-सी, विटामिन-ई, विटामिन-के, कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटैशियम, फास्फोरस, तांबा, मैंगनीज, क्रोंमियम, आयरन, आग्जेलिक एसिड, फोलिक एसिड, ओमेगा-3 फैटी एसिड, फाइबर, पेटाथोनिक एसिड, कोलाइन, प्रोटीन, जस्ता, नियासिन, सेलेनियम, लोहा, वसा, कार्बोहाइड्रेट, जिंक, शुगर, सोडियम, राइवोफ्लेविन आदि तत्व पर्याप्त मात्रा में प्राप्त हो जाते हैं जो कि मनुष्य के शारीरिक व मानसिक विकास के लिए परम आवश्यक हैं। इसके अलावा इन सब्जियों में एन्टी-आक्सीडेन्ट, एन्टी-इन्फ्लेमेट्री, एन्टीफंगल तथा एन्टी-बैक्टीरियल गुण भी पर्याप्त मात्रा में पाये जाते हैं जो कि शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाते हुए निरोग रखने में अहम भूमिका निभाते हैं। इन सब्जियों का नियमित सेवन पकाकर तथा सलाद के रूप में करें। ऐसा करने से निःसन्देह शारीरिक व मानसिक विकास में अदभुद् वृध्दि होती है तथा याददाश्त अर्थात् स्मरण शक्ति मे वृध्दि होती है।

2. पर्याप्त नींद लेः

परीक्षा के दिनों में पढ़ायी का अधिक लोड होने के कारण प्रायः विद्यार्थी मानसिक दबाव मे आ जाते हैं जिसे दूर करने के लिए 7 से 8 घण्टे की गहरी नींद संजीवनी का काम करती है। गहरी एवं पर्याप्त नींद लेने से मस्तिष्क की थकान दूर हो जाती है तथा मस्तिष्क पूरी तरह से रिचार्ज हो जाता है। जिसके कारण जो कुछ पढ़ा जाता है उसका अधिकाधिक परसेन्टेज मस्तिष्क रूपी मेमोरी में संग्रहीत हो जाता है।

3. मार्निंग वाक, योग तथा प्राणायाम करेः

रात का भोजन (डिनर) 7.00 से 7.30 बजे तक लें, रात 9.00 बजे से 9.30 बजे का मध्य सो जाएं तथा सुबह 5.00 बजे से 5.30 बजे उठ जाये। खाली पेट गुनगुना दो से तीन गिलास पानी पिएं, ब्रस मंजन व शौच क्रिया से निवृत्त होकर मार्निंग वाक, योग तथा प्राणायाम करें। ऐसा करने से शारीरिक व मानसिक शक्ति में अत्यन्त वृध्दि होने के फलस्वरूप याददाश्त तीव्र होती है। जिसके कारण अधिक से अधिक टापिक को कम से कम समय में पढ़ कर याद करने की शक्ति प्राप्त होती है।

4. बादाम, अखरोट तथा किशमिश का नियमित सेवन किया जायः

रात के सोते समय एक कटोरे स्वच्छ जल में 4 से 5 बादाम, 5 से 6 अखरोट तथा 20 से 25 ग्राम किशमिश अच्छी तरह से धुल कर भिगों दे। सुबह उठकर नित्यक्रिया तथा मार्निंग वाक, योग व प्राणायाम से निवृत्त होकर बादाम को छीलकर खूब चबा-चबा कर खा लें, अखरोट तथा किशमिश को भी खा लें तथा उक्त पानी को ऊपुर से पी लें। ऐसा नियमित रूप से करने से शारीरिक व मानसिक शक्ति में व्यापक वृध्दि होने के परिणामस्वरूप याददाश्त में अत्यन्त वृध्दि होती है।

5. पढने तथा याद करने में गहन रूचि पैदा करेः

पढ़ने तथा याद करने में पर्याप्त एवं गहन रूचि लें। एक बार में 40 मिनट से अधिक देर तक न पढ़ें। लगातार बहुत अधिक देर तक पढ़ने से दिमाग हैंग होने लगता है जिससे पढ़ा हुआ टापिक काफी हद तक भूल जाता है तथा पढ़ाई से जी ऊबने लगता है। इसलिए पढ़ाई करते समय बीच-बीच में 10  मिनट विश्राम अवश्य करें।  40 मिनट पढ़ने के बाद पढ़े हुए टापिक को 5 मिनट मन ही मन सोचें जो भूल रहा हो पुनः किताब या नोट बुक में देख लें। इसके बाद 10 मिनट पूर्ण विश्राम करें ऐसा करने से दिमाग रिचार्ज हो जाता है। इसके बाद पुनः पढ़ाई करें। साथ ही साथ जो तथ्य भूलने की आशंका हो उसी समय उसे नोटबुक पर नोट कर लें तथा उसे बार-बार पढ़ें। जो कुछ पढ़ें उसकी छवि अपने दिमाग में बसा लें। यदि उपलब्ध हो तो वीडियो के माध्यम से भी टापिक को देख सकते हैं।

उक्त पांच बेहतरीन उपायों को नियमित रूप से अपना कर विद्यार्थी बोर्ड परीक्षा, प्रतियोगिता परीक्षा या अन्य किसी परीक्षा में अधिकाधिक अंक अर्जित करनें के लिए तेजी से याददाश्त बढ़ा जा सकते हैं।

Related Articles

Back to top button
The Knowledge Gateway Would you like to receive notifications on latest updates? No Yes