Miscellaneous

सकल घरेलू उत्पाद (Gross Domestic Product)

सकल घरेलू उत्पाद (Gross Domestic Product)

सकल घरेलू उत्पाद अंग्रेजी भाषा के शब्द Gross Domestic Product का हिन्दी रूपान्तर है जिसका संक्षित नें जी0 डी0 पी0 (G.D.P.) है।  जी0 डी0 पी0 शब्द का सर्वप्रथम प्रयोग अमेरिका के प्रसिद्ध अर्थशास्त्री साइमन ने (1935 से 1944 ई0 के दौरान) किया था। जी0 डी0 पी0 किसी देश की आर्थिक सेहत मापने का एक आवश्यक एवं महत्वपूर्ण पैमाना है। वास्तविक जी0 डी0 पी0 (सकल घरेलू उत्पाद) वृद्धि की गणना करने से अर्थशास्त्रियों को यह निर्धारित करने में मदद मिलती है कि मुद्रा की क्रय क्षमता में परिवर्तन के  अप्रभावित रहते हुए उत्पादन कम हुआ है या बढा है। जी0 डी0 पी0 ग्रोथ किसी भी देश की रीढ़ की हड्डी है। बिना जी0 डी0 पी0 ग्रोथ सुदृढ़ किये कोई भी देश तरस्की नही कर  सकता है यानी विकास नही कर सकता है।

जी0 डी0 पी0 की परिभाषा (Definition of Gross Domestic Product)

किसी देश की घरेलू सीमा के अन्दर किसी एक वित्तीय वर्ष में उत्पादित की गई सभी अन्तिम वस्तुओं तथा सेवाओं के बाजार मूल्यों के सम्पूर्ण योग को सकल घरेलू उत्पाद (जी0 डी0 पी0) कहते हैं।

                      अथवा

किसी निश्चित चालू वित्तीय वर्ष में किसी देश द्वारा उत्पादित सभी वस्तुओं तथा सेवाओं के मूल्य को सकल घरेलू उत्पाद कहते हैं।

अथवा

वह राशि जो किसी देश द्वारा किसी भी वित्तीय वर्ष में  अपने विभिन्न स्रोतों से अर्जित की जाती है, उस देश का उस वर्ष का सकल घरेलू उत्पाद (Gross Domestic Product)कहलाता है। इसमें अन्य देशों के उपयोग के लिए तैयार किया गया माल जो उन देशों को निर्यात किया जाता है, तथा सेवाएं भी सम्मिलित है।

सकल घरेलू उत्पाद = उपभोग + सकल निवेश + सरकारी खर्च + ( निर्यात – आयात ) ।

शुद्ध निर्यात = निर्यात – आयात

GDP =  C+I+G+ (X-M)

जहां,   C = उपभोग,  G =  सरकारी व्यय,  I =  निवेश,  (X-M) = शुद्ध निर्यात,  X =  निर्यात, M = आयात   है ।

उपभोग (Consumption)

अर्थव्यवस्था में निजी उपभोग में अधिकांश व्यक्तिगत घरेलू व्यय जैसे- भोजन, किराया,कपडा, चिकित्सा आदि शामिल है जो मानव की बुनियादी आवश्यकताएं है।

निवेश (Investment)

निवेश को व्यवसाय या घर की वस्तुओं द्वारा पूंजी के रूप में लगाए जाने वाले निवेश के रूप में परिभाषित किया जाता है। जैसे- फैक्ट्री के लिए मशीनरी या उपकरण खरीदना, मकान निर्माण ये मकान मरम्मत में व्यय आदि।

निवेश मानव एवं मानव सभ्यता के विकास के लिए परमा आवश्यक हैं जिसके अभाव में विकास की कल्पना ही नही की जा सकती है।

सरकारी व्यय (Public expenditure)

किसी देश में किसी भी वित्तीय वर्ष में अन्तिम माल तथा सरकारी सेवाओं के व्यय का योग सरकारी व्यय कहलाता है जिसमें सरकारी कर्मियों का वेतन, सेना के लिए अश्त्र-शस्त्र खरीदना, शिक्षा पर खर्च आदि सम्मिलित है।

निर्यात (Export)

किसी वित्तीय वर्ष में किसी देश द्वारा किया गया सकल निर्यात है।

आयात (Import)

किसी देश द्वारा किसी वित्तीय वर्ष में विश्व के विभिन्न देशों से किये गये आयात के सकल योग को सकल आयात कहा जाता है।

सकल घरेलू उत्पाद के प्रकार (Type of Gross Domestic Product)

  1. वर्तमान जी0 डी0 पी0 (सकल घरेलू उत्पाद) :यह वह सकल घरेलू उत्पाद है जिसे मापन की जाने वाली अवधि को वर्तमान मूल्यों में व्यक्त किया जाता है।
  2. नाम मात्र जी0 डी0 पी0 वृद्धि : यहनाम मात्र मूल्यों में जी0 डी0 पी0 (सकल घरेलू उत्पाद) वृद्धि है।
  3. वास्तविक जी0 डी0 पी0 वृद्धि: मूल्य परिवर्तनों के लिए समायोजित जी0 डी0 पी0 (सकल घरेलू उत्पाद ) वृद्धि  को ही वास्तविक जी0 डी0 पी0 वृध्दि कहा जाता है।

जी0 डी0 पी0 व्यक्त करने के तरीके (Ways to express G.D.P.)

जी0 डी0 पी0 दो प्रकार से व्यक्त किया जाता हैः

  1. प्रचलित मूल्य अर्थात् मूल्यों कीमतों पर।
  2. स्थाई मूल्य अर्थात आधार वर्ष पर।

जी0 डी0 पी0 जब स्थाई मूल्यों पर आधारित होता है तो उसमें से मुद्रास्फीति के प्रभाव को हटा दिया जाता है। यही कारण है कि जब किसी तिमाही या वर्ष में जी0 डी0 पी0 वृद्धि स्थाई मूल्यों पर व्यक्त की जाती है।

Related Articles

Back to top button
Would you like to receive notifications on latest updates? No Yes

AdBlock Detected

Please Consider Supporting Us By Disabling Your AD Blocker