आतंकवाद का उद्देश्य, प्रमुख घटनाएं, स्वरूप, कारण एवं रोंकने के सुझाव

0
32
Terrorism

आतंकवाद का उद्देश्य, प्रमुख घटनाएं, स्वरूप, कारण एवं रोंकने के सुझाव (Purpose of terrorism, major event, nature, caused and suggestions to stop)

आतंकवाद क्या है? (What is terrorism?)

गैर राज्य  कारकों या अराजक तत्वों द्वारा अपने राजनैतिक, वैचारिक,  आर्थिक, धार्मिक या अन्य किसी  मकसद को हासिल करने के लिए सैन्य ठिकानों,  सरकार या नागरिकों की सुरक्षा को निशाना बनाकर किए गए  गैर कानूनी हमले / असाधारण हिंसा या  हिंसा की धमकी को आतंकवाद कहा जाता है। आतंकवाद किसी भी वर्ग, जाति विशेष, धर्म, सम्प्रदाय या राष्ट्र का हितैषी नहीं है बल्कि सम्पूर्ण मानवता का प्रबल शत्रु है।

आतंकवाद का उद्देश्य (Aim of terrorism) 

आतंकवाद का मुख्य उद्देश्य  गैर कानूनी हमले / असाधारण हिंसा करके जन-धन की भारी क्षति करना व भय का माहौल पैदा करना या हिंसा की धमकी देकर राज्य या प्रशासन को अपनी मांगों को मनवाने के लिए मजबूर करना होता है।

आतंकवादियों द्वारा की जाने वाली प्रमुख घटनाएं (Major incidents done by terrorism)

बसों तथा हवाई जहाजों का अपहरण, किसी व्यक्ति अथवा कुछ व्यक्तियों को बन्धक बना लेना, महत्वपूर्ण नेताओं अथवा उनके परिवार के सदस्यों का अपहरण, राज्य  एवं सरकार के मुखिया या महत्वपूर्ण राजनीतिक व्यक्तियों की हत्या, सार्वजनिक भवनों व स्थानों को बम विस्फोट द्वारा नष्ट करना या क्षति पहुंचाना तथा वहां पर रहने वाले निर्दोष लोगों की हत्या करना आदि आतंकवादियों द्वारा की जाने वाली प्रमुख घटनाए हैं।

आतंकवाद का भयावह स्वरूप (Dreadful nature of terrorism)

जब आतंकवादी संगठनों या गुटों  को कुछ भ्रष्ट राष्ट्र जनशक्ति, अस्त्र–शस्त्र, प्रशिक्षण तथा आर्थिक मदद देने लगते हैं तो आतंकवाद का स्वरूप अत्यन्त व्यापक तथा भयावह हो जाता है।

भारत के पूर्वोत्तर राज्यों में आतंकवादी तथा विद्रोही गतिविधियों की मदद चीन तथा बांग्लादेश द्वारा परोक्ष रूप से की जाती रही है। इसी प्रकार पाकिस्तान पहले पंजाब में और बाद में जम्मू कश्मीर में आतंकवादी गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए तथा विभिन्न आतंकवादी संगठनों या गुटों  को संरक्षण ही नहीं बल्कि उन्हें प्रशिक्षण, संसाधन, आर्थिक सहायता, सलाह तथा फर्जी पासपोर्ट भी प्रदान कर रहा है । 26 नवम्बर 2008 का मुंबई आतंकवादी हमला पूरे देश तथा विश्व को दहला देने वाला था जिसमें लगभग 434 निर्दोष लोगों की जानें गई, काफी संख्या में लोग घायल हुए तथा आर्थिक क्षति हुई । अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर में स्थित वर्ल्ड ट्रेड सेन्टर तथा वाशिंगटन के पेन्टागन कार्यालय पर आतंकवादी हमला हुआ जिसके बाद आतंकवाद ने  विश्वव्यापी आयाम धारण कर लिया है । 14 फरवरी 2019 को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए जबरदस्त आतंकवादी हमले में सी0 आर0 पी0 एफ0 के 42 जवान शहीद तथा 05 जवान बुरी तरह घायल हो गए । उक्त आतंकवादी हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन  जैस-ए-मोहम्मद ने ली  थी।

आतंकवाद के विरुद्ध लड़ाई अदृश्य दुश्मन के विरूद्ध लड़ाई है क्योंकि आतंकवाद में यह अनुमान लगा पाना काफी मुश्किल होता है कि कब, कौन, कहां और कैसे आतंकवादी घटना करेगा। आतंकवादी घटनाओं का निश्चित पूर्व अनुमान लगा पाना अत्यन्त दुष्कर कार्य है। दुनिया के सभ्य तथा प्रजातान्त्रिक देशों द्वारा आतंकवाद को जड़ से उखाड़ फेंकने के व्यापक प्रयास किए जा रहे हैं।

आतंकवाद के कारण (Due to terrorism) 

गरीबी, अशिक्षा, बेरोजगारी, आर्थिक तथा सामाजिक पिछड़ापन, शासन में अनावश्यक हस्तक्षेप, जिहाद के नाम पर नव युवकों का गुमराह होना, महत्त्वाकांक्षा आदि बढते हुए आतंकवाद के मुख्य कारण हैं।

आतंकवाद रोकने के लिए कतिपय सुझाव (Certain tips to stop terrorism)

  1. रेडियो, टेलीविजन, प्रेस आदि माध्यमों से आम जनता को सुरक्षा के प्रति सचेत  किया जाए कि बम तथा आतंकवादी हथियारों को कैसे पहचाने एवं सन्देहात्मक वस्तु  दिखाई देने पर पुलिस को शीघ्रातिशीघ्र सूचना दें।
  2. आतंकवाद के विरुद्ध जनमत तैयार कर आतंकवाद से लड़ने में आम जनता का सहयोग लिया जाय।
  3. आतंकवादी संगठनों तथा गुटों को मदद देने वाले अराजक / आपराधिक तत्वों की पहचान कर उनके विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जाए।
  4. आतंकवादी संगठनों तथा गुटों को देश विदेश से मिलने वाली आर्थिक सहायता पर रोंक लगाई जाय।
  5. सीमा पार से होने वाली तस्करी तथा अस्त्र- शस्त्र की आपूर्ति पर  पूर्णतया रोंक लगाई जाय।
  6. आतंकवाद के विरुद्ध लड़ाई में लगे पुलिस एवं सुरक्षा बलों को आतंकवादियों द्वारा प्रयोग किए जाने वाले हथियारों से अधिक उच्चकोटि के हथियार प्रदान कर उन्हें प्रशिक्षित किया जाए जिससे वे आतंकवाद का डटकर मुकाबला कर सकें
  7. रेलवे स्टेशनों, ट्रेनों, हवाई अड्डों तथा हवाई जहाजों की सुरक्षा सुदृढ़ करते हुए सफर करने वाले यात्रियों की सघन चेकिंग की जाय तथा इस चेकिंग में जनता द्वारा पुलिस एवं सुरक्षा बलों का पूर्ण सहयोग किया जाए।
  8. एन0 एस0 जी0 तथा अन्य सभी सुरक्षाबलों का आधुनिकीकरण तथा खुफिया तन्त्र का अपग्रेडेशन किया जाए।
  9. भारत के अति महत्वपूर्ण महानगरों जैसे- दिल्ली, मुंबई, मद्रास, कोलकाता की सुरक्षा के लिए सुरक्षा के ऐसे कवच का निर्माण किया जाय कि वह किसी भी प्रकार की आपात स्थिति में आतंकवाद से निपटने के लिए सक्षम हो सकें।
  10. बच्चों के लिए सभी स्कूलों, कालेजों व संस्थानों में योग, सैन्य एवं राष्ट्रभक्ति की शिक्षा अनिवार्य कर दी जाय जिससे वे शारीरिक व मानसिक रूप से पूर्णतया स्वस्थ हों एवं देश प्रेम की भावनायुक्त हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.