Miscellaneous

अन्वेषण में भौतिक साक्ष्य एकत्र करने के स्रोत

अन्वेषण में भौतिक साक्ष्य एकत्र करने के स्रोत

वे साक्ष्य जो कि आंखों से दिखायी देते हैं, भौतिक साक्ष्य कहलाते हैं। भौतिक साक्ष्य एकत्र करने के स्रोत निम्नलिखित हैं- 1. घटनास्थल  2. पीड़ित व्यक्ति तथा 3. अभियुक्त व्यक्ति।

हत्या के अपराध में घटनास्थल से रक्त रंजित वस्तुएं, रक्त रंजित मिट्टी, खोखा कारतूस, तमंचा, जिन्दा कारतूस मिल सकती है जिसे दो निष्पछ / स्वतन्त्र साक्षियों के समक्ष नियमानुसार कब्जे पुलिस में लेकर सील व सर्वमुहर कर नियमानुसार फर्द मुरत्तब कर थाने के मालखाने में दाखिल करना चाहिए और समय से परीक्षण हेतु नियमानुसार सम्बन्धित विधि विज्ञान प्रयोगशाला में भिजवाना चाहिए जिसके परीक्षण से प्राप्त परीक्षण रिपोर्ट भारतीय साक्ष्य अधिनियम की धारा-45 के अनुसार न्यायालय में ग्राह्य होती है।

घटनास्थल पर उपलब्ध कुर्सी, मेज, गिलास, कप, आलमारी, प्लेट, घर के दरवाजे आदि पर फिंगर प्रिन्ट मिल सकते हैं जिन्हें फील्ड युनिट की मदद से कब्जे में लेकर मिलान हेतु फिंगर प्रिन्ट ब्यूरो को समय से भिजवाना चाहिए।। घटनास्थल पर आने जाने वाले रास्ते पर फुट प्रिन्ट मिल सकते हैं जिसका फोटोग्राफ लिया जाना चाहिए। मार्ग दुर्घटना के अपराधों में टायर चिन्ह व कांच के टूटे टुकड़ें बिखरे हुए मिलते हैं जिनकी फोटोग्रापी कराना चाहिए।

हत्या, बलात्कार के अपराध में मृतक महिला के हाथ में अभियुक्त के बाल मिल सकते हैं जिसे दो निष्पछ / स्वतन्त्र साक्षियों के समक्ष नियमानुसार कब्जे पुलिस में लेकर सील व सर्वमुहर कर नियमानुसार फर्द मुरत्तब कर थाने के मालखाने में दाखिल करना चाहिए और समय से परीक्षण हेतु नियमानुसार सम्बन्धित विधि विज्ञान प्रयोगशाला में भिजवाना चाहिए। घटनास्थल पर अपराध करके भागते समय अभियुक्त का छूटा हुआ कपड़ा या कोई समान मिल सकता है जिसे दो निष्पछ / स्वतन्त्र साक्षियों के समक्ष नियमानुसार कब्जे पुलिस में लेकर सील व सर्वमुहर कर नियमानुसार फर्द मुरत्तब कर थाने के मालखाने में दाखिल करना चाहिए।

आत्महत्या या दहेज मृत्यु के अपराध में मृतका द्रारा अपनी मृत्यु के सम्बन्ध में लिखा गया सुइसाइड नोट मिल सकता है जिसे दो निष्पछ / स्वतन्त्र साक्षियों के समक्ष नियमानुसार कब्जे पुलिस में लेकर नियमानुसार फर्द मुरत्तब किया जाना चाहिए जो कि प्रकरण को सुलझाने में अति महत्वपूर्ण साबित हो सकता है तथा न्यायालय में भी ग्राह्य है। घटनास्थल पर अभियुक्त द्वारा पिये गये सिगरेट के टुकड़ों पर अभियुक्त की लार मिल सकती है जिसका परीक्षण अभियुक्त की लार से डी0 एन0 ए0 परीक्षण से जोड़ते हुए अभियुक्त का पता लगाया जा सकता है। हत्या के अपराध में अभियुक्त के फायर आर्म से मृतक के कपड़ों के जलने व कालिख लगें कपड़ों को विधि विज्ञान प्रयोगशाला से परीक्षण कराकर गोली चलने की दूरी का पता लगाया जा सकता है।

दहेज मृत्यु के अपराध में घटनास्थल  पर मृतका के जले हुए कपड़े मिल सकते हैं जिसे कब्जे पुलिस में लेकर विधि विज्ञान प्रयोगशाला से परीक्षण कराकर यह जानकारी की जा सकती है कि किस ज्वलनशील पदार्थ का प्रयोग करके उसे जलाया गया है। बलात्कार के अपराध में पीड़िता के कपड़ों पर वीर्य के धब्बे मिल सकते हैं जिनका अभियुक्त के वीर्य से मिलान कराकर विश्वसनीय व सुसंगत साक्ष्य प्राप्त किया जा सकता है जो कि न्यायालय में ग्राह्य है।  मृतक के शरीर में पाये गये बुलेट को कब्जे में लेकर उसका मिलान अभियुक्त के पिस्टल / रिवाल्वर से कराकर साक्ष्य प्राप्त किया जा सकता है। विष देकर हत्या के मामले में उल्टी के धब्बों को कब्जे में लेकर विधि विज्ञान प्रयोगशाला से परीक्षण कराकर यह जानकारी की जा सकती है कि किस विष का प्रयोग घटना में किया गया है।

हत्या के अपराध में अभियुक्त के कब्जे से घटना में प्रयुक्त रक्त रंजित चाकू, रक्त रंजित कमीज, रक्त रंजित जूता, हत्या मे प्रयुक्त किया गया आग्नेयास्त्र मिल सकता है। गृहभेदन के अपराध में अभियुक्त के कब्जे से घटना में  प्रयुक्त पेंचकस, पिलास आदि मिल सकता है। हत्या के अपराध में अभियुक्त की कार से मृतक के कपड़े, बाल या अन्य कोई सामान मिल सकता है।

कुछ भौतिक साक्ष्य ऐसे भी होते हैं जो कि आंखो से दिखायी नही देते जिन्हें अदृश्य साक्ष्य भी कहा जाता है। घटनास्थल पर परफ्यूम, केरोसीन, मिट्टी तेल, डीजल, पेट्रोल आदि की स्मेल अदृश्य भौतिक साक्ष्य हैं। घटनास्थल का निरीक्षण करते समय विवेचक को ऐसी स्मेल का स्थान व समय अवश्य नोट करना चाहिए। विवेचना के दौरान आगे चलकर ये साक्ष्य घटना को जोड़ने में काफी मददगार होते हैं।

Related Articles

Back to top button
Would you like to receive notifications on latest updates? No Yes

AdBlock Detected

Please Consider Supporting Us By Disabling Your AD Blocker