Miscellaneous

U.P. S.I. भर्ती विज्ञप्ति 2020-21

U.P. S.I. भर्ती विज्ञप्ति 2020-21

                                                                               उत्तर प्रदेश सरकार

                                                               उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड

                                                          19 सी, तुलसी गंगा काम्पलेक्स, विधानसभा मार्ग,

                                                                       लखनऊ, उत्तर प्रदेश- 226001

                                                                            सूचना / विज्ञप्ति

पुरुष तथा महिलाओं के लिए उप निरीक्षक नागरिक पुलिस तथा पुरुषों के लिए प्लाटून कमाण्डर, पीएसी एवं अग्निशमन द्वितीय अधिकारी के पदों पर सीधी भर्ती- 2020-21

संख्याः पीआरपीबी-दो-2(3वि0) / 2020                               दिनांकः फरवरी, 2021

  • पुलिस महानिदेशक, उत्तर प्रदेश, लखनऊ द्वारा प्रेषित अधियाचन पत्र संख्याः डीजी-चार-106(100)2018(सी0भ0), दिनांकित 05-08-2020, पत्र संख्याः डीजी-चार- 121 (10)2016-19 (सी0भ0), दिनांकित 11-01-2021 तथा पत्र संख्याः दस-510/19, दिनांकित 05-02-2021 के आधार पर उत्तर प्रदेश पुलिस में उप निरीक्षक नागरिक पुलिस, प्लाटून कमाण्डर, पीएसी एवं अग्निशमन द्वितीय अधिकारी, वेतनमान पे-बैण्ड-9300-34800 व ग्रेड पे-4200 के क्रमशः 9027, 484 एवं 23 अर्थात् कुल-9534 रिक्त पदों, जिनके श्रेणीवार विवरण निम्नवत हैं, को भरने के लिए पुरुष/महिला अभ्यर्थियों से (महिला अभ्यर्थी केवल उप निरीक्षक नागरिक पुलिस के पद हेतु) आनलाइन आवेदन पत्र आमन्त्रित किए जाते हैः-
  • उप निरीक्षक नागरिक पुलिस के पदों का श्रेणीवार विवरणः
क्रम संख्या श्रेणी संख्या
1. अनारक्षित 3613
2. ई0 डब्लू0 एस0 (10 प्रतिशत) 902
3. अन्य पिछड़ा वर्ग (27 प्रतिशत) 2437
4. अनुसूचित जाति (21 प्रतिशत) 1895
5. अनुसूचित जनजाति (2 प्रतिशत) 180
                             योग 9027

सीधी भर्ती द्वारा भरे जाने वाले पदों के सापेक्ष क्षैतिज आरक्षण का प्रतिशत-

क्रम सं0 समूह आरक्षण का प्रतिशत अद्यावधिक शासनादेश व दिनांक पदों की संख्या
1. स्वतन्त्रता संग्राम सेनानी के आश्रित 2 प्रतिशत शासनादेश संख्याः18/1/95-का0 2/95, दिनांक 10-05-1995 180
2. भूतपूर्व सैनिक 5 प्रतिशत शासनादेश संख्याः18/1/95-का 2/ टीसी-1999, दिनांक 09-09-1999 451
3. महिला 20 प्रतिशत शासनादेश संख्याः18/1/99-का 2/1999, दिनांक 26-02-1999

शासनादेश संख्याः18/1/99-का 2/1999, दिनांक 30-08-1999

शासनादेश संख्याः18/1/99 का- 2/2006, दिनांक 09-01-2007

शासनादेश संख्याः 39 रिट /का- 2/2019, दिनांक 26-06-1999

एवं

मा0 सर्वोच्च न्यायालय द्वारा विशेष अनुज्ञा याचिका (सिविल) सं0 23223/2018 सौरव यादव एवं अन्य बनाम उ0 प्र0 राज्य व अन्य में विचारित प्रकीर्ण प्रार्थना- पत्र संख्या 2641/2019 तथा रिट याचिका (सी)सं0 237/2020 में प्रदत्त व्यवस्था के अनुसार क्षैतिज आरक्षण लागू किया जायेगा

 

 

 

1805

 प्लाटून कमाण्डर पीएसी के पदों का श्रेणीवार विवरणः

क्रम संख्या श्रेणी संख्या
1. अनारक्षित 194
2. ई0 डब्लू0 एस0 (10 प्रतिशत) 48
3. अन्य पिछड़ा वर्ग 131
4. अनुसूचित जाति 101
5. अनुसूचित जनजाति 10
                             योग 484

सीधी भर्ती द्वारा भरे जाने वाले पदों के सापेक्ष क्षैतिज आरक्षण का प्रतिशत-

क्रम सं0 समूह आरक्षण का प्रतिशत अद्यावधिक शासनादेश व दिनांक पदों की संख्या
1. स्वतन्त्रता संग्राम सेनानी के आश्रित 2 प्रतिशत शासनादेश संख्याः1885/17-वि0-1-(क)-23-1999, दिनांक 28-07-1999 180
2. भूतपूर्व सैनिक 5 प्रतिशत शासनादेश संख्याः18/1/95-का 2/ टीसी-1999, दिनांक 09-09-1999 451
  • अग्निशमन द्वितीय अधिकारी के पदों का श्रेणीवार विवरणः
क्रम संख्या श्रेणी संख्या
1. अनारक्षित 10
2. ई0 डब्लू0 एस0 (10 प्रतिशत) 2
3. अन्य पिछड़ा वर्ग (27 प्रतिशत) 6
4. अनुसूचित जाति (21 प्रतिशत) 5
5. अनुसूचित जनजाति (2 प्रतिशत) 0
                             योग 23

सीधी भर्ती द्वारा भरे जाने वाले पदों के सापेक्ष क्षैतिज आरक्षण का प्रतिशत-

क्रम सं0 समूह आरक्षण का प्रतिशत अद्यावधिक शासनादेश व दिनांक पदों की संख्या
1. स्वतन्त्रता संग्राम सेनानी के आश्रित 2 प्रतिशत शासनादेश संख्याः18/1/95-का0 2/95, दिनांक 10-05-1995 00
2. भूतपूर्व सैनिक 5 प्रतिशत शासनादेश संख्याः18/1/95-का- 2/ टीसी-1999, दिनांक 09-09-1999 01

 

1.2-  स्वतन्त्रता संग्राम सेनानी के आश्रितों के लिए 2 प्रतिशत, भूतपूर्व सैनिको के सिए 5 प्रतिशत, तथा महिला अभ्यर्थियों को 20 प्रतिशत का क्षैतिज आरक्षण उत्तर प्रदेश शासन के कार्मिक विभाग द्वारा समय-समय पर जारी शासनादेशों / अद्यतन शासनादेश उ0 प्र0 शासन के कार्मिक अनुभाग-2 के आदेश संख्याः 39 रिट/का-2/2019, दिनांक 26-06-2019 में दी गई व्यवस्था एवं इस सम्बन्ध में म्ननीय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा विशेष अनुज्ञा याचिका (सिविल) सं0 23223/2018 सौरव यादव एवं अन्य बनाम उ0 प्र0 राज्य व अन्य में विचारित प्रकीर्ण प्रार्थना-पत्र संख्याः 2641/2019 तथा रिट याचिका (सी) सं0 237/2020 में प्रदत्त व्यवस्था के अनुसार क्षैतिज आरक्षण लागू किया जायेगा। महिलाएं केवल उप निरीक्षक नागरिक पुलिस पद के लिए ही आवेदन कर सकती हैं। 

1.3-  प्रथम परीक्षा के पूर्व किसी भी समय रिक्तियों की संख्या परिवर्तित हो सकती है तथा यह भर्ती किसी भी समय या भर्ती के किसी स्तर पर बिना कोई कारण बताए निरस्त की जी सकती है।

1.4-  उप निरीक्षक नागरिक पुलिस, प्लाटून कमाण्डर पीएसी एवं अग्निशमन द्वितीय अधिकारी के पद पर चयन अभ्यर्थी के लिखित परीक्षा में प्राप्त प्रसामान्यीकृत अंकों के श्रेष्ठताक्रम एवं उसके आवेदन पत्र में अंकित प्रथम, द्वितीय, तृतीय वरीयता क्रम के आधार पर किया जायेगा।

2.1-  आनलाइन आवेदन की समय सारणीः-

क्रम संख्या विवरण तिथि
1. आवेदन प्रारम्भ होने की तिथि 01-04-2021
2. आवेदन शुल्क जमा करने एवं आवेदन पत्र सबमिट करने की अन्तिम तिथि 30-04-2021 रात्रि 12.00 बजे तक

 2.2-  आवेदन शुल्कइस भर्ती प्रक्रिया के सभी अभ्यर्थियों हेतु आवेदन शुल्क रू0 400/- (रुपये चार सौ मात्र) निर्धारित किया गया है।

3- अर्हताएः- 

3.1- राष्ट्रीयताः

इस भर्ती के लिए आवश्यक है कि अभ्यर्थीः-

(क) भारत का नागरिक हो या

 (ख) तिब्बती शरणार्थी हो , जो भारत में स्थायी निवास के अभिप्राय से पहली जनवरी, 1962 के पूर्व  भारत

आया हो या

(ग)भारतीय मूल का ऐसा व्यक्ति हो जिसने भारत में स्थायी निवास के अभिप्राय से पाकिस्तान, म्यांमार, श्रीलंका या किसी पूर्व अफ्रीकी देश केनिया, युगाण्डा एवं यूनाइटेड रिपब्लिक आफ तन्जानिया (पूर्ववर्ती तांगानिका और जांजीबार) से प्रवजन किया हो।

परन्तु उपर्युक्त श्रेणी (ख) या (ग) के अभ्यर्थी को ऐसा होना चाहिए जिसके पक्ष में राज्य सरकार द्वारा    पात्रता का प्रमाण पत्र जारी किया गया हो, परन्तु यह और कि श्रेणी ख) के से यह भी अपेक्षा की जायेगी कि वह पुलिस उप  महानिरीक्षक, अभिसूचना शाखा, उत्तर प्रदेश से पात्रता का प्रमाण पत्र प्राप्त कर ले।

परन्तु यह भी कि यदि कोई अभ्यर्थी उपर्युक्त श्रेणी (ग) का हो तो पात्रता का प्रमाण पत्र एक वर्ष से अधिक अवधि के लिए जारी नही किया जायेगा और ऐसे अभ्यर्थी को एक वर्ष की अवधि के आगे सेवा मे इस शर्त पर रहने दिया जायेगा कि वह भारत की नागरिकता प्राप्त कर ले।

टिप्पणीः-ऐसे अभ्यर्थी को जिसके मामले में पात्रता का प्रमाण पत्र आवश्यक हो किन्तु वह न तो जारी किया गया हो और न देने से इन्कार किया गया हो, किसी परीक्षा या साक्षात्कार में सम्मिलित किया जा सकता है और उसे इस शर्त पर अनन्तिम रूप से  नियुक्त भी किया जा सकता है कि आवश्यक प्रमाण पत्र उसके द्वारा प्राप्त कर लिया जाय या उसके पक्ष में जारी कर दिया जाय।

3.2-  शैक्षिक योग्यताः-

(क) उप निरीक्षक नागरिक पुलिस एवं प्लाटून कमाण्डर पीएसी पद के लिएः भारत मे विधि द्वारा स्थापित किसी विश्वविद्यालय से स्नातक उपाधि या सरकार द्वारा उसके समकक्ष मान्यता प्राप्त कोई अर्हता।

(ख) अग्निशमन द्वितीय अधिकारी पद के लिएः भारत मे विधि द्वारा स्थापित किसी विश्वविद्यालय से विज्ञान में स्नातक उपाधि या सरकार द्वारा उसके समकक्ष मान्यता प्राप्त कोई अर्हता।

टिप्पणीः– (1) आवेदन करने की अन्तिम तिथि तक अभ्यर्थी को अपेक्षित शैक्षिक अर्हता अवश्य धारित करनी चाहिए तथा उसकी अंकतालिका अथवा प्रमाण पत्र उसके पास उपलब्ध होने चाहिए। अपेक्षित शैक्षिक अर्हता हेतु परीक्षा मे सम्मिलित हुए अथवा सम्मिलित होने वाले अभ्यर्थी पात्र नही होंगे।

(2) आवेदन पत्र में प्रदर्शित शैक्षिक अर्हता की यथार्थता, शुध्दता एवं समकक्षता को सिध्द करने के लिए अभिलेखीय साक्ष्य प्रस्तुत करने का दायित्व अभ्यर्थी का होगा। इस सम्बन्ध में बोर्ड का निर्णय अन्तिम होगा।

 3.3- अधिमानी अर्हताएः

अधिमानी अर्हता के कोई अंक नहीं होंगे, बल्कि दो या दो से अधिक अभ्यर्थियो के बराबर अंक प्राप्त करने की दशा में अधिमानी अर्हता के अभ्यर्थियों को प्रस्तर 4.4- के अधीन वरीयता प्रदान की जायेगीः-

  • डीओईएसीसी / नाइलिट सोसायटी के कम्प्यूटर में “ओ” स्तर का प्रमाण पत्र प्राप्त किया हो, या
  • प्रादेशिक सेना मे न्यूनतम दो वर्ष की अवधि तक की सेवा की हो, या
  • राष्ट्रीय कैडेट कोर का “बी” प्रमाण पत्र प्राप्त किया हो।

3.4-  आयुः-

अभ्यर्थी ने दिनांक 01-07-2021 को 21 वर्ष की आयु प्राप्त कर ली हो तथा 28 वर्ष से अधिक आयु पूर्ण न की हो, अर्थात् अभ्यर्थी का जन्म दिनांक 01-07-1993 से पूर्व तथा दिनांक 01-07-2000 के पश्चात न हुआ हो।

परन्तु यह कि अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और ऐसे अन्य श्रेणियों के अभ्यर्थियों की दशा में उच्चतर आयु सीमा उतने वर्ष अधिक होगी जितनी रिक्तियों की अधिसूचना के समय अधिनियम में और लागू सरकारी आदेशों में विनिर्दिष्ट की जाये।

3.5 चरित्रः-

अभ्यर्थी का चरित्र ऐसा होना चाहिए कि वह सरकारी सेवा में सेवायोजन के लिए सभी प्रकार से उपयुक्त हो सके। नियुक्ति प्राधिकारी इस सम्बन्ध में अपना समाधान कर लेगें।

टिप्पणीः- संघ सरकार या किसी राज्य सरकार द्वारा या संघ सरकार या किसी राज्य सरकार के स्वामित्वाधीन किसी स्थानीय प्राधिकारी या नियन्त्रणाधीन किसी निगम या निकाय द्वारा पदच्यूत व्यक्ति नियुक्ति के लिए पात्र नही होगें। नैतिक अधमता के किसी अपराध के लिए दोषसिध्द व्यक्ति भी पात्र नही होंगे।

3.6 वैवाहिक प्रास्थितिः-

सेवा मे किसी पद पर नियुक्ति के लिए ऐसा पुरुष / महिला अभ्यर्थी पात्र नही होगा जिसकी एक से अधिक पत्नियां / पति जीवित हों, या ऐसी महिला अभ्यर्थी पात्र न होगी जिसने ऐसे पुरुष से विवाह किया हो जिसकी पहले से एक पत्नी जीवित हो।

परन्तु सरकार किसी व्यक्ति को इस नियम के प्रवर्तन से छूट दे सकती है यदि उसका समाधान हो जाए कि ऐसा करने के लिए विशेष कारण विद्यमान है।

3.7- शारीरिक स्वस्थताः-

किसी अभ्यर्थी को सेवा मे नियुक्त नही किया जायेगा जब तक कि मानसिक तथा शारीरिक दृष्टि से उसका स्वास्थ्य अच्छा न हो और वह किसा ऐसे शारीरिक दोष से युक्त हो जिससे उसे अपने कर्तव्यों का दक्षतापूर्वक पालन करने में बाधा पड़ने की संभावना हो। किसी अभ्यर्थी को नियुक्ति के लिए अन्तिम रूप से अनुमोदित किए जाने से पूर्व उससे यह अपेक्षा की जायेगी कि वह चिकित्सा बोर्ड के परीक्षण में सफल हो जाये। शारीरिक रूप से विकलांग व्यक्ति भर्ती के लिए पात्र नही होंगें।

4- भर्ती की प्रक्रिया-

यह चयन “उत्तर प्रदेश उप निरीक्षक और निरीक्षत (नागरिक पुलिस) सेवा (यथा संशोधित) नियमावली-2015”, सप्तम संशोधन 2020 के अधीन किया जायेगा।

4.1 आनलाइन लिखित परीक्षाः-

“उत्तर प्रदेश उप निरीक्षक और निरीक्षत (नागरिक पुलिस) सेवा (यथा संशोधित) नियमावली-2015”, सप्तम संशोधन 2020 के अनुसार ऐसे अभ्यर्थी जिनके आवेदन सही पाये जायेंगे, उनसे 400 अंकों की आनलाइन लिखित परीक्षा में सम्मिलित होने की अपेक्षा की जायेगी। इस आनलाइन लिखित परीक्षा में वस्तुनिष्ठ प्रकार का चार अलग-अलग निम्नलिखित विषयों का एक प्रश्नपत्र होगाः-

क्र0 सं0 विषय अधिकतम अंक
1. सामान्य हिन्दी 100 अंक
2. मूलविधि / संविधान / सामान्य ज्ञान 100 अंक
3. संख्यात्मक एवं मानसिक योग्यता परीक्षा 100 अंक
4. मानसिक अभिरूचि परीक्षा / बुध्दिलब्धि परीक्षा / तार्किक परीक्षा

(a) आनलाइन लिखित परीक्षा दो घण्टे (120 मिनट) की होगी।

(b) अभ्यर्थियों की संख्या के अनुसार आनलाइन लिखित परीक्षा एक ही तिथि को एक से अधिक पालियों में अथवा एक से अधिक तिथियो में विभिन्न पालियों में आयोजित काराई जायेगी। प्रत्येक पालियों के प्रश्नपत्र अलग-अलग होंगें। आनलाइन लिखित परूक्षा एक से अधिक तिथियो या एक से अधिक पालियों में आयोजित किए जाने पर अभ्यर्थी के प्राप्तांकों का प्रसामान्यीकरण किया जायेगा। प्रसामान्यीकरण में Equi-Percentile Method लागू किया जायेगा।

(c) सेवा नियमावली में सप्तम संशोधन के अनुसार आनलाइन लिखित परीक्षा के प्रत्येक विषय में 35 प्रतिशत अंक और कुल 50 प्रतिशत अंक प्राप्त करने में विफल रहने वाले अभ्यर्थी भर्ती के पात्र नही होंगे। उपरोक्त परिस्थितियों के अधीन जहां कहीं इस नियम में शब्द “अंक” आया हो उसका तात्पर्य प्रसामान्यीकरण अंक होगा अर्थात आनलाइन  परीक्षा मे प्रतिभाग करने वाले समस्त अभ्यर्थियों के प्रत्येक विषय में मूल प्राप्तांको का प्रसामान्यीकरण करने के पश्चात जिन अभ्यर्थियों के प्रसामान्यीकरण प्राप्तांक प्रश्नपत्र के प्रत्येक विषय 35 प्रतिशत तथा चारो विषयों में कुल 50 प्रतिशत नही होंगें, वे अभ्यर्थी चयन प्रक्रिया के अगले चरण में प्रतिभाग करने हेतु अर्ह / पात्र नही होंगें।

(d) संशोधित नियमावली के अनुसार भर्ती बोर्ड प्रश्नपत्र के चार विषयों में से प्रत्येक विषय में अभ्यर्थियो द्वारा प्राप्त मूल अंकों का प्रथमतः प्रसामान्यीकरण करेगा और अन्तिम कुल प्रसामान्यीकरण अंकों का गणना समस्त चारों विषयों के प्रसामान्यीकरण अंकों को जोड़ कर की जायेगी।

(e) आनलाइन परीक्षा के उपरान्त बोर्ड द्वारा आमन्त्रित किये जाने पर अभ्यर्थी अपनी आपत्ति आनलाइन दर्ज करा सकते हैं।

(f) प्रश्नपत्र में किसी प्रश्न के गलत होने या प्रश्न के सभी उत्तर विकल्पों के उपयुक्त न होने पर ऐसे प्रश्नों को निरस्त कर दिया जायेगा और उन निरस्त प्रश्नों के अंको का वितरण मा0 उच्च न्यायालय, इलाहाबाद में रिट याचिका सं0 2669 (एम0 बी0) / 2009 पवन कुमार अग्रहरि बनाम उ0 प्र0 लोक सेवा आयोग में स्वीकृत व्यवस्था के अनुसार किया जायेगा।

4.2 अभिलेखों की संवीक्षा एवं शारीरिक मानक परीक्षाः

प्रस्तर-4.1 में वर्णित आनलाइन लिखित परीक्षा में सफल अभ्यर्थियों के प्रसामान्यीकृत प्राप्तांको की श्रेष्ठता के आधार पर उनसे अभिलेखों की संवीक्षा एवं शारीरिक मानक परीक्षा में सम्मिलित होने की अपेक्षा की जायेगी जो कि अर्हकारी प्रकृति की होगी। अभिलेखों की संवीक्षा एवं शारीरिक मानक परीक्षा में बुलाये जाने वाले अभ्यर्थियों की संख्या कुल रिक्तियों की संख्या को ध्यान में रखते हुए निर्धारित की जायेगी।

शारीरिक मानक परीक्षण के मानकः

पुरुषों हेतुः-

     (क)ऊंचाईः-

  • सामान्य / अन्य पिछड़ें वर्गों और अनुसूचित जाति के अभ्यर्थियों के लिए न्यूनतम ऊंचाई 168 सेंन्टीमीटर है।
  • अनुसूचित जनजाति के अभ्यर्थियों के लिए न्यूनतम ऊंचाई 160 सेंन्टीमीटर है।

       (ख)सीनाः-

सामान्य / अन्य पिछड़ें वर्गों और अनुसूचित जाति के अभ्यर्थियों के लिए सीने की न्यूनतम माप 79 सेन्टीमीटर बिना फुलाने पर और कम से कम 84 सेन्टीमीटर फुलाने पर एवं अनुसूचित जनजातियों के लिए 77 सेन्टीमीटर बिना फुलाने पर और फुलाने पर 82 सेन्टीमीटर से कम नही होगा।

टिप्पणीः सीने का फुलाव न्यूनतम 5 सेन्टीमीटर होना अनिवार्य है।

महिलाओं हेतुः

    ऊंचाईः-

  • सामान्य / अन्य पिछड़ें वर्गों और अनुसूचित जाति के महिला अभ्यर्थियों के लिए न्यूनतम ऊंचाई 152 सेंन्टीमीटर है।
  • अनुसूचित जनजाति के महिला अभ्यर्थियों के लिए न्यूनतम ऊंचाई 147 सेंन्टीमीटर है।

वजनः

महिला अभ्यर्थियों के लिए न्यूनतम वजन 40 किलोग्राम।

अभिलेखों की संवीक्षा तथा शारीरिक मानक परीक्षा जिला मजिस्ट्रेट द्वारा नामित डिप्टी कलेक्टर की अध्यक्षता में गठित एक समिति द्वारा की जायेगी जिसें जनपद के पुलिस अधीक्षक द्वारा नामित पुलिस उपाधीक्षक सदस्य होंगे। यथा आवश्यकता समिति के अन्य सदस्य जिला मजिस्ट्रेट अथवा पुलिस अधीक्षक द्वारा नामित किये जायेंगे। कोई अभ्यर्थी जो अपनी शारीरिक मानक परीक्षा से असन्तुष्ट हो, ठीक परीक्षण के उपरान्त उसी दिन आपत्ति दाखिल कर सकता है। ऐसे सभी अभ्यर्थियों का शारीरिक मानक परीक्षण दल द्वारा इस प्रयोजन हेतु नामित अपर पुलिस अधीक्षक की उपस्थिति में पुनः कराया जायेगा। ऐसे अभ्यर्थी जो पुनः कराये गये शारीरिक मानक परीक्षण में असफल पाये जायेंगे, उन्हें भर्ती हेतु अनुपयुक्त घोषित करते हुए अगले चरण में सम्मिलित नही किया जायेगा एवं तदोपरान्त किसी प्रकार की अपील स्वीकार नही की जायेगी। अभिलेखों की परीक्षा एवं शारीरिक मानक परीक्षा को कराये जाने की प्रक्रिया बोर्ड की बेवसाइट पर प्रदर्शित की जायेगी।

4.3 शारीरिक दक्षता परीक्षाः

अभिलेखों की संवीक्षा एवं शारीरिक मानक परीक्षा मे सफल पाये गये अभ्यर्थियों से शारीरिक दक्षता परीक्षै में सम्मिलित होने की अपेक्षा की जायेगी जो अर्हकारी प्रकृति की होगी। शारीरिक दक्षता परीक्षा मे सफल होने के लिए पुरुष अभ्यर्थी को 4.8 किलोमीटर की दौड़ 28 मिनट में तथा महिला अभ्यर्थी को 2.4 किलोमीटर की दौड़ 16 मिनट में पूरी करनी आवश्यक होगी। जो अभ्यर्थी नियत समय के भीतर दौड़ पूरी नही करेंगें, वे भर्ती के लिए पात्र नही होंगें। शारीरिक दक्षता परीक्षा जिला मजिस्ट्रेट द्वारा नामित डिप्टी कलेक्टर की अध्यक्षता में गठित एक समिति द्वारा की जायेगी जिसमे जनपद के पुलिस अधीक्षक अधीक्षक द्वारा नामित पुलिस उपाधीक्षक सदस्य होंगे। यथा आवश्यकता समिति के अन्य सदस्य जिला मजिस्ट्रेट अथवा पुलिस अधीक्षक द्वारा नामित किये जायेंगे। शारीरिक दक्षता परीक्षा के आयोजन की प्रक्रिया बोर्ड की बेवसाइट पर प्रदर्शित की जायेगी।

टिप्पणीः-

  • लिखित परीक्षा, अभिलेखों की संवीक्षा एवं शारीरिक मानक परीक्षा तथा शारीरिक दक्षता परीक्षा की तिथि व समय की सूचना यथासमय अधिसूचित की जायेगी।
  • लिखित परीक्षा, अभिलेखों की संवीक्षा एवं शारीरिक मानक परीक्षा तथा शारीरिक दक्षता परीक्षा के प्रवेश पत्र यथासमय बेर्ड की बेवसाइट http_//uppbpb.gov.in पर उपलब्ध होगें जहां से अभ्यर्थी उसे डाउनलोड कर प्राप्त कर सकेंगें।

4.4 चयन तथा अन्तिम श्रेष्ठता सूचीः

शारीरिक दक्षता परीक्षा मेंसफल पाये गये अभ्यर्थियों में से उनके द्वारा प्रस्तर 4.1 के अधीन आनलाइन परीक्षा में प्राप्त प्रसामान्यीकृत अंकों के आधार पर राज्य की आरक्षण नीति के दृष्टिगत रिक्तियों के सापेक्ष प्रत्येक श्रेणी के अभ्यर्थियों की श्रेष्ठता के क्रम के अनुसार चयन सूची तैचार कर उसे संस्तुति सहित चिकित्सा परीक्षा / चरित्र सत्यापन के अधीन विभागाध्यक्ष को प्रेषित की जायेगी। बोर्ड द्वारा कोई प्रतीक्षा सूची तैयार नही की जायेगी। यदि दो या दो से अधिक अभ्यर्थी समान अंक प्राप्त करते हैं तो श्रेष्ठता सूची का विनिश्चय निम्नलिखित प्रक्रिया के अनुसार किया जायेगाः-

  • यदि दो या दो से अधिक अभ्यर्थियों के अंक समान हों तो ऐसे अभ्यर्थी को वरीयता दी जायेगी जो प्रस्तर-3.3 मे दिये गये अधिमानी अर्हता के क्रम के अनुसार कोई अधिमानी अर्हता रखते हों। एक से अधिक अधिमानी अर्हता रखने वाले अभ्यर्थी को केवल एक ही अधिमानी अर्हता का लाभ प्राप्त होगा।
  • उपर्युक्त के होते हुए भी यदि दो या अधिक अभ्यर्थियों के अंक समान हों तो अधिक आयु वाले अभ्यर्थी को वरीयता प्रदान की जायेगी।
  • यदि उपरिलिखित के बावजूद भी एक से अधिक अभ्यर्थी समान हों तो ऐसे अभ्यर्थियों की वरीयता उनके हाईस्कूल प्रमाण पत्र में यथा उल्लिखित नाम के अंग्रेजी वर्णमाला क्रम के अनुसार निर्धारित की जायेगी।

4.5 चिकित्सा परीक्षाः-

चयन सूची में स्थान रखने वाले अभ्यर्थियों से नियुक्ति प्राधिकारी द्वारा चिकित्सा परीक्षा मे सम्मिलित होने की अपेक्षा की जायेगी। चिकित्सा परीक्षा मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा गठित चिकित्सा परिषद द्वारा चिकित्सा मैनुअल व पुलिस भर्ती चिकित्सा परीक्षा प्रपत्र के अनुसार की जायेगी। चिकित्सा परीक्षा में असफल पाये गये अभ्यर्थियों को नियुक्ति प्राधिकारी द्वारा अनुपयुक्त घोषित कर दिया जायेगा और ऐसी रिक्तियों को अग्रेतर चयन के लिए आगे ले जाया जायेगा।

5- आरक्षण व आयु सीमा में छूटः-

अनुसूचित जातियों, अनुसूचित जनजातियों और अन्य श्रेणी के अभ्यर्थियों (केवल उत्तर प्रदेश के मूल निवासियों को ही अनुमन्य) के लिए आरक्षण व अधिकतम आयु सीमा में छूट से सम्बन्धित विवरण निम्न प्रकार हैः

5.1- लम्बवत (वर्टिकल) आरक्षणः

क्र0सं0 श्रेणी प्रतिशत अधिकतम आयु सीमा में छूट प्रमाण पत्र व प्रारूप प्रमाण पत्र देने वाले सक्षम प्राधिकारी
1. अनुसूचित जाति 21 05 वर्ष जाति प्रमाण पत्र प्रारूप-2 जिलाधिकारी/अतिरिक्त जिलाधिकारी/सिटी मजिस्ट्रेट/परगनामजिस्ट्रेट/ तहसीलदार/अन्य वेतन भोगी मजिस्ट्रेट, यदि कोई हो/जिला समाज कल्याण अधिकारी।
2. अनुसूचित जनजाति 02 05 वर्ष जाति प्रमाण पत्र प्रारूप-2 जिलाधिकारी/अतिरिक्त जिलाधिकारी/सिटी मजिस्ट्रेट/परगनामजिस्ट्रेट/ तहसीलदार/अन्य वेतन भोगी मजिस्ट्रेट, यदि कोई हो/जिला समाज कल्याण अधिकारी।
3. अन्य पिछड़ा वर्ग 27 05 वर्ष जाति प्रमाण पत्र प्रारूप-1 जिलाधिकारी/अतिरिक्त जिलाधिकारी/सिटी मजिस्ट्रेट/परगनामजिस्ट्रेट/ तहसीलदार।
4. आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग 10 1. स्वयं घोषणापत्र प्रारूप-5 स्वहस्ताक्षरित
2.आय एवं परिसम्पत्ति प्रमाण पत्र प्रारूप-6 जिलाधिकारी/अतिरिक्त जिलाधिकारी/सिटी मजिस्ट्रेट/परगनामजिस्ट्रेट/ तहसीलदार।

5.2- क्षैतिज (हारीजेण्टल) आरक्षणः

क्र0सं0 श्रेणी प्रतिशत अधिकतम आयु सीमा में छूट प्रमाण पत्र व प्रारूप प्रमाण पत्र देने वाले सक्षम प्राधिकारी
1. स्वतन्त्रता संग्राम सेनानी के अश्रित 02        – आश्रित प्रमाण पत्र प्रारूप-3 जिलाधिकारी ।
2. भूतपूर्व सैनिक 05 03 वर्ष यूनिट डिस्चार्ज प्रमाण पत्र जिला सैनिक कल्याण एवं पुनर्वास अधिकारी
3. महिला 20 05 वर्ष जाति प्रमाण पत्र प्रारूप-1 जिलाधिकारी/अतिरिक्त जिलाधिकारी/सिटी मजिस्ट्रेट/परगनामजिस्ट्रेट/ तहसीलदार।
4. आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग 10        –        –                  –

 

भूतपूर्व सैनिकों की आयु सेना में की गई सेवा अवधि को उनकी वास्तविक आयु से घटाने पर निर्धारित आयु सीमा से 3 वर्ष से अधिक नही होनी चाहिए।

5.3- राज्याधीन सेवाओं में कार्यरत कर्मचारियों को उत्तर प्रदेश शासन के कार्मिक विभाग के शासनादेश संख्याः2-ईःएमः/2001-का-4-2013 दिनांक 27 अगस्त, 2013के अनुसार अधिकतम आयु सीमा में 05 वर्ष की छूट प्रदान की जायेगी। आयु में छूट चाहने वाले राज्याधीन सेवाओं में कार्यरत् कर्मचारियों द्वारा प्रस्तुत किया जाने वालाप्रमाण पत्र प्रारूप-4 के अनुरूप निर्गत होना चाहिए।

5.4- शासन के पत्र संख्याः17/6-पु0-10-2016-27(3)/2016 दिनांक 18 जनवरी, 2016 के अनुसार अधिकतम आयु सीमा में ऐसे अभ्यर्थियों जिन्हे विभिन्न श्रेणियों में आने के कारण आयु सीमा में छूट की पात्रता है, उन्हें केवल उसी श्रेणी के आधार पर आयु सीमा में छूट दी जायेगी, जिसमें उन्हे अधिकतम आयु सीमा में छूट की अनुमन्यता है।

टिप्पणीः-

  1. गोंद लिए जाने के फलस्वरूप सम्बन्धित बच्चा गोंद लेने वाले व्यक्ति की अपनी सन्तानस्वरूप हो जाता है। अतः यदि अनुसूचित जाति/जनजाति का कोई व्यक्ति किसी सवर्ण बच्चे को नियमानुसार गोंद लेता है तो उस बच्चे को आरक्षण व्यवस्था के अन्तर्गत लाभ अनुमन्य होगा।
  2. उत्तर प्रदेश के अनुसूचित जाति / जनजाति तथा अन्य पिछड़े वर्ग के लिए जाति प्रमाण पत्र दिनांक 01-04-2020 या उसके बाद का निर्गत होना चाहिए।
  3. यदि कोई अभ्यर्थी एक से अधिक श्रेणी में आरक्षण का दावा करता है तो उसे मात्र एक ही आरक्षण का लाभ मिलेगा जो उसके लिए अधिक लाभकारी होगा।
  4. जो अभ्यर्थी केन्द्र या राज्य सरकार की सेवा में सेवारत है, उन्हें आवेदन करने से पूर्व अपमे सेवायोजक से निर्गत अनापत्ति प्रमाण पत्र प्राप्त करना अनिवार्य होगा एवं जब उनसे अपेक्षा की जायेगी, उसे प्रस्तुत करना होगा।
  5. ऐसे पुरुष अभ्यर्थी जो उ0 प्र0 का मूल निवास प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने में असफल रहते हैं, उन्हें अनारक्षित श्रेणी का मानते हुए विचार किया जायेगा, ऐसे अभ्यर्थियो को उनकी श्रेणी के अन्तर्गत आरक्षण का लाभ नही दिया जायेगा तथा उनके द्वारा आनलाइन लिखित परीक्षा मे प्राप्त प्रसामान्यीकृत अंक अनारक्षित श्रेणी के कट आफ से कम होने की दशा में उन्हें भर्ती प्रक्रिया के अगले चरण में सम्मिलित नही किया जायेगा।
  6. अभिलेखों की संवीक्षा / शारीरिक मानक परीक्षण के समय अन्य पिछड़ा वर्ग, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति की महिलाएं यदि उत्तर प्रदेश का मूल निवास प्रमाण पत्र प्रसुत करने में असमर्थ रहती हैं तो उन्हें महिला वर्ग के अन्तर्गत क्षैतिज आरक्षण का लाभ नही दिया जायेगा और यदि उनके प्रसामान्यीकृत प्राप्तांक अनारक्षित श्रेणी के कट आप या उससे अधिक हैं, तभी उन्हें चयन प्रक्रिया के अगले चरण में सम्मिलित होने की अनुमति दी जायेगी।

6- अभ्यर्थियों के लिए महत्वपूर्ण सूचनाः

आनलाइन आवेदन करते समय अभ्यर्थियों के पास निम्नांकित अभिलेख अवश्य होने चाहिए जो कि    आवेदन करते समय स्कैन कर के अपलोड किये जायेंगेः

  • शैक्षिक अर्हता सम्बन्धी अभिलेख- स्नातक उपाधि अंक पत्र / प्रमाण पत्र।
  • अधिमानी अर्हता सम्बन्धी अभिलेख यदि कोई हो।
  • मूल निवास प्रमाण पत्र (दिनांक 01-04-2020 या उसके बाद का निर्गत)।
  • मूल जाति प्रमाण पत्र (दिनांक 01-04-2020 या उसके बाद का निर्गत)।
  • स्वतन्त्रता संग्राम सेनानी के आश्रित का प्रमाण पत्र (प्रारूप-3)।
  • भूतपूर्व सैनिक यूनिट डिस्चार्ज प्रमाण पत्र / सेवामुक्ति प्रमाण पत्र, यूनिट के कमाण्डेन्ट द्वारा निर्गत नो आब्जेक्शन सर्टीफिकेट।
  • आयु में छूट चाहने वाले उत्तर प्रदेश राज्य के कार्यरत कर्मचारियों द्वारा प्रस्तुत किया जाने वाला प्रमाण पत्र (प्रारूप-4)।
  • आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लाभार्थी का स्वयं का घोषणा पत्र निर्धारित प्रारूप-4 तथा आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग का आय एवं परिसम्पत्ति प्रमाण पत्र प्रारूप-6 (दिनांक 01-04-2020 या उसके बाद का निर्गत)।
  • फार्म में स्कैन कर के अपलोड करने हेतु अभ्यर्थी की नवीनतम आवक्ष तक रंगीन फोटो और हस्ताक्षर।

Related Articles

Back to top button

AdBlock Detected

Please Consider Supporting Us By Disabling Your AD Blocker