India & WorldIndia & WorldIndia & WorldIndia & WorldIndia & WorldIndia & WorldIndia & WorldMiscellaneous

संयुक्त राष्ट्र संघ (United Nations Organisation)

Table Of Contents Hide
1 संयुक्त राष्ट्र संघ (United Nations Organisation)

संयुक्त राष्ट्र संघ (United Nations Organisation)

स्थापनाः

द्वितीय विश्व युध्द के उपरान्त विश्व में शान्ति की स्थापना हेतु एक नये संगठन की आवश्यकता महसूस की गयी जिसके फलस्वरूप तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति फ्रैंकलिन डी0 रूजवेल्ट और इंग्लैण्ड के प्रधानमन्त्री विंस्टन चर्चिल द्वारा विश्व के देशों के मध्य मैत्री तथा सहयोग की स्थापना हेतु राष्ट्र संघ नामक संगठन का प्रस्ताव रखा गया जिसके चार्टर पर 26 जून 1945 ई0 को सेनफ्रांसिस्को (अमेरिका) में 50 देशों के प्रतिनिधियों ने हस्ताक्षर किए जिसके आधार पर 24 अक्टूबर 1945 ई0 को सेनफ्रांसिस्को में राष्ट्र संघ के स्थान पर संयुक्त राष्ट्र संघ की स्थापना हुई। संयुक्त राष्ट्र संघ के प्रथम महासचिव लिग्वे ली थे जो कि नार्वे के निवासी थे। वर्तमान माहासचिव एन्टोनिओ गुटेरियस हैं जो कि पुर्तगाल के निवासी हैं।

मुख्यालयः

संयुक्त राष्ट्र संघ का मुख्यालय अमेरिका के न्यूयॉर्क के मैनहट्टन में स्थित है जिसका भवन आधिकारिक रूप से 9 जनवरी 1951 ई0 को खुला तथा इस भवन का निर्माण 1949 से 1950 में हुआ।

संविधानः

संयुक्त राष्ट्र संघ का चार्टर ही उसका संविधान है जिसमें 09 अध्याय तथा 11 अनुच्छेद हैं।

संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देशः

प्रारम्भ में संयुक्त राष्ट्र संघ में सदस्य देशों की संख्या 51 थी। वर्तमान में संयुक्त राष्ट्र में 193 सदस्य देश हैं। 193 वां सदस्य सूडान 14 जुलाई 2011 को सदस्य बना है।

संयुक्त राष्ट्र का ध्वजः

नीली पृष्ठभूमि में विश्व का मानचित्र दर्शाया गया है तथा दो जैतून की शाखाओं पर हार पहने हुए है। इस ध्वज को 1947 ई0 में अपनाया गया था।

संयुक्त राष्ट्र का उद्देश्यः

संयुक्त राष्ट्र संघ एक अन्तर्राष्ट्रीय संगठन है जिसका उद्देश युद्ध को रोकना, मानवाधिकारों की रक्षा करना, अन्तर्राष्ट्रीय कानून को सुविधाजनक बनाने में सहयोग, अन्तर्राष्ट्रीय सुरक्षा, आर्थिक विकास, सामाजिक प्रगति, मानवाधिकार और विश्व शान्ति के लिए कार्य करना है।

आधिकारिक एवं कार्यकारी भाषाएः

स्थापना के समय केवल 4 भाषाएं (चीनी, अंग्रेजी, फ्रेन्च तथा रूसी) स्वीकृत की गई थी। वर्ष 1973 ई0 में अरबी और स्पेनिश भाषा को भी सम्मिलित किया गया।

वर्तमान समय में संयुक्त राष्ट्र संघ में 6 स्वीकृत राजभाषाएः अरबी, चीनी, अंग्रेजी, फ्रेन्च, रूसी तथा स्पेनिश हैं जिनमें से मात्र 2 भाषाओं अंग्रेजी और फ्रांसीसी को संचालन भाषा (कार्यकारी भाषा) माना जाता है।

इस प्रकार वर्तमान में संयुक्त राष्ट्र संघ में 06 आधिकारिक भाषाएं अरबी, चीनी, अंग्रेजी, फ्रांसीसी, रूसी तथा स्पेनिश तथा 02 कार्यकारी भाषाएं अंग्रेजी और फ्रेन्च हैं।

संयुक्त राष्ट्र संघ में किसी भाषा को आधिकारिक भाषा के रूप में मान्यता प्रदान किये जाने की प्रक्रियाः

संयुक्त राष्ट्र में किसी भाषा को आधिकारिक भाषा के रूप में मान्यता दिए जाने के हेतु कोई विशिष्ट मापदण्ड नहीं है। संयुक्त राष्ट्र में किसी भाषा को अधिकारिक भाषा के रूप में शामिल किए हेतु संयुक्त राष्ट्र महासभा में साधारण बहुमत द्वारा एक संकल्प को स्वीकार करना तथा संयुक्त राष्ट्र की कुल सदस्यता के दो तिहाई बहुमत द्वारा उसे अन्तिम रूप से पारित करना होता है।

संयुक्त राष्ट्र संघ में हिन्दी को आधिकारिक भाषा के रूप में सम्मिलित किये जाने हेतु भारत का प्रयासः

भारत काफी लम्बे समय से यह कोशिश कर रहा है कि हिन्दी भाषा को संयुक्त राष्ट्र की आधिकारिक भाषाओं में शामिल किया जाए भारत का यह दावा इस आधार पर है कि हिन्दी विश्व में बोली जाने वाली दूसरी सबसे बड़ी भाषा है और विश्व भाषा के रूप में स्थापित हो चुकी है तथा भारत विश्व का सबसे बड़ा लोकतन्त्र है तथा चुनिन्दा आर्थिक शक्तियों में भी शामिल हो चुका है।

संयुक्त राष्ट्र के अंगः

महासभा, सुरक्षा परिषद, आर्थिक तथा सामाजिक परिषद, न्यास परिषद, अन्तरार्ष्ट्रीय न्यायालय तथा सचिवालय संयुक्त राष्ट्र संघ के अंग हैं।

महासभाः

यह संयुक्त राष्ट्र संघ का सबसे मुख्य अंग है जिसका मुख्यालय न्यूयार्क में स्थित है । महासभा का कार्य सुरक्षा परिषद, आर्थिक व सामाजिक परिषद, न्यास परिषद के सदस्यों का चुनाव करना, महासभा व सुरक्षा परिषद की अनुशंसा पर संयुक्त राष्ट्र महासचिव की नियुक्ति करना तथा महासभा व सुरक्षा परिषद के साथ मिलकर अन्तरार्ष्ट्रीय न्यायालय के न्यायाधीशों का चुनाव करना है।

सुरक्षा परिषदः

सुरक्षा परिषद का  मुख्यालय न्यूयार्क में है।

वर्तमान समय में सुरक्षा परिषद के 05 स्थायी सदस्य  देश- चीन, फ्रान्स, रूस, अमेरिका तथा ब्रिटेन है।

सुरक्षा परिषद में 10 अस्थायी सदस्य हैं जो महासभा द्वारा 02 वर्ष के लिए चुने जाते हैं।

भारत के अब तक 07 बार सुरक्षा परिषद का अस्थायी सदस्य चुना गया है।

आर्थिक तथा सामाजिक परिषदः

इसका मुख्यालय न्यूयार्क में है, कुल सदस्य 54 हैं जिनका कार्यकाल 03 वर्ष होता है। एक तिहाई सदस्य प्रत्येक वर्ष सेवानिवृत्त होते है तथा एक तिहाई सदस्य प्रत्येक वर्ष महासभा के द्वारा चुने जाते हैं। वर्ष में दो वैठक आयोजित की जाती है– प्रथम बैठक माह अप्रैल में न्यूयार्क में तथा दूसरी बैठक माह जुलाई में जिनेवा में होती है।

न्यास परिषदः

इसका  मुख्यालय न्यूयार्क में स्थित है। इसका उद्देस्य अन्तरार्ष्ट्रीय शान्ति एवं सुरक्षा बनाये रखना, बिना किसी भेदभाव के मानवाधिकारों एवं मौलिक स्वतन्त्रताओं के प्रति सम्मान को बढावा देना है।

अन्तरार्ष्ट्रीय न्यायालयः

इसका मुख्यालय नीदरलैण्ड के हेग में स्थित है। यह एक न्यायिक संस्था है जिसमें 15 न्यायाधीश होते हैं जिनका कार्यकाल 09 वर्ष का होता है। एक तिहाई सदस्य प्रत्येक 03 वर्ष पर चुने जाते हैं। अध्यक्ष तथा उपाध्यक्ष का चुनाव 03 वर्ष के लिए किया जाता है। अधिकारिक भाषा अंग्रेजी तथा फ्रांसीसी है।

सचिवालयः

इसका मुख्यालय न्यूयार्क में है, इसका प्रधान संयुक्त राष्ट्र का महासचिव होता है जिसका कार्यकाल 05 वर्ष का होता है।

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषदः

इसका गठन जून 2006 ई0 में किया गया जिसका नाम बदल कर वर्तमान में मानवाधिकार आयोग कर दिया गया है। इसका मुख्यालय जिनेवा में स्थित है। सदस्यों की संख्या 47 है। सदस्यों का कार्यकाल 03 वर्ष का होता है। इसके एक तिहाई सदस्य प्रतिवर्ष सेवानिवृत्त होते हैं तथा एक तिहाई सदस्य प्रतिवर्ष चुने जाते हैं।

संयुक्त राष्ट्र संघ  के विशिष्ट अभिकरणः

अभिकरण का नाम मुख्यालय स्थापना वर्ष सदस्य संख्या
खाद्य एवं कृषि संगठन रोम, इटली

 

1945 194
अन्तर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा अभिकरण (IAEA) वियना, आस्ट्रिया 1957 168
विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) जिनेवा (स्विट्जरलैंड) 1948 194
अन्तर्राष्ट्रीय श्रम संघ (ILO) जिनेवा, स्विट्जरलैंड 1959 187
संयुक्त राष्ट्र अन्तर्राष्ट्रीय बाल कोष (UNICEF) न्यूयार्क (संयुक्त राज्य अमेरिका) 1946 192
विश्व बौध्दिक सम्पदा संगठन (WIPO) जिनेवा(स्विटजरलैण्ड) 1970 185
विश्व मौसम विज्ञान संगठन (WMO) जिनेवा(स्विटजरलैण्ड) 1950 185
संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP) न्यूयार्क (संयुक्त राज्य अमेरिका) 1965 177
संयुक्त राष्ट्र शिक्षा, विज्ञान तथा सांस्कृतिक संगठन (UNESCO) पेरिस 1945 195
अन्तर्राष्ट्रीय पुनर्निर्माण एवं विकास बैंक (IBRD) वाशिंगटन(संयुक्त राज्य अमेरिका) 1944 189
अन्तर्राष्ट्रीय वित्त निगम (IFC) वाशिंगटन(संयुक्त राज्य अमेरिका) 1956 184
अन्तर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) वाशिंगटन(संयुक्त राज्य अमेरिका) 1945 189
विश्व व्यापार संगठन (WTO) जिनेवा (स्विट्जरलैंड) 1945 164
व्यापार एवं विकास पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन (UNCTAD) जिनेवा(स्विटजरलैण्ड) 1964 194
विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP) रोम (इटली) 1962
संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP) नैरोबी 1972 87
संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष(UNFPA) न्यूयार्क (संयुक्त राज्य अमेरिका) 1969 180

 

कुछ अन्य तथ्यः

  1. संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा दशक (वर्ष 2019-2030तक) को संयुक्त राष्ट्र परिवार खेती का फैंसला घोषित किया गया है।
  2. संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा वर्ष 2020 को पौध स्वास्थ्य का अन्तर्राष्ट्रीय वर्ष घोषित किया गया है।

Related Articles

Back to top button
The Knowledge Gateway Would you like to receive notifications on latest updates? No Yes