Miscellaneous

वजन घटाना (Weight loss)

वजन घटाना (Weight loss)

आज कल के तेजी से बदलते हुए परिदृश्य में हमारा खान-पान, रहन-सहन निरन्तर बदलता जा रहा है। न तो खान-पान का नियमित समय है, न सोने- जागने का नियमित समय है, न ही नियमित दिनचर्या है और न ही सन्तुलित आहार लेते हैं। यही सब कारण है कि हमारा शरीर मोटापे का शिकार हो जाता है। यूं तो मोटापा कोई बीमारी नही है परन्तु मोटापा अर्थात अधिक वजन बढ़ना एक नही अनेक बीमारियों का कारण बनता है तथा साथ ही साथ आपकी पर्सनालिटी पर भी काफी प्रभाव डालता है। किसी व्यक्ति के शरीर का वजन उसकी कुल लम्बाई में से 100 घटाने पर बची लम्बाई में 10 जोड़ने या घटाने पर प्राप्त संख्या ही उस व्यक्ति का सही वजन होता है।

उदाहरणार्थ- यदि किसी व्यक्ति की लम्बाई 150 सेमी है तो उक्त व्यक्ति का वजन 40 से 60 किग्रा0 के मध्य होना चाहिए। अर्थात् 150 सेमी लम्बाई वाले व्यक्ति का न्यूनतम वजन 40 किग्रा0 तथा अधिकतम वजन 60 किग्रा0 होना चाहिए। यदि वजन 40 किग्रा0 के कम है तो वजन कम है तथा यदि वजन 60 किग्रा0 से अधिक है तो वजन अधिक है अर्थात मोटापे का शिकार है।

किसी व्यक्ति का वजन कम या अधिक होना दोनों ही हानिकारक है तथा अनेक बीमारियों को आमन्त्रण देता है। स्वस्थ्य रहने के लिए वजन सही होना परम आवश्यक है अन्यथा अच्छे / आदर्श स्वास्थ्य की कल्पना नही की जा सकती है। यही वजन जब मानक से काफी अधिक बढ़ जाता है तो आपका शरीर धीरे-धीरे अनेकानेक रोगों का घर बन जाता है तथा चिकित्सकों द्वारा वजन घटाने की सलाह दी जाती है। लोग वजन कम करने के उपाय (Remedies Loss Weight) ढ़ूंढ़ने लगते हैं, वजन कम करने की डाइट (Weight Loss Diet) फालो करते है कोई सार्थक परिणाम न निकलने पर वजन कम करने की एक्सरसाइज (Weight Loss Exercise) करना आरम्भ कर देते हैं।

वजन घटाने का कुछ महत्वपूर्ण टिप्स (Some Important tips for Weight Loss)

  1. ज्यादा तले हुए भोज्य पदार्थ शरीर में फैट (चर्बी) बढ़ाते हैं। इसलिए तले हुए पदार्थ न खाएं। कम प्रोटीन वाले तथा फाइबरयुक्त भोज्य पदार्थों का सेवन किया जाय।
  2. एक कप पानी गर्म कर के उसमें ग्रीन टी का बैग डुबोएं तथा गुनगुना होने पर एक चम्मच शहद मिलाकर नियमित सेवन करें। इसके निरन्तर सेवन से वजन घटता है।
  3. अधिक कैलोरी तथा शुगरयुक्त चीजें खाने से बचें।
  4. हरी पत्तेदार सब्जियों (जैसे- सोया, मेथी, पालक इत्यादि) में अधिक मात्रा में फाइबर होता है तथा कैलोरी बहुत कम होती है। इन सब्जियों का अधिकाधिक सेवन किया जाय। इन सब्जियों का अधिकाधिक सेवन करने से अन्य चीजों को खाने की आवश्यकता नही पड़ती तथा मोटापा घटाना सहज हो जाता है।
  5. अधिक कैलोरी तथा कार्बोहाइड्रेट वाले भोज्य पदार्थों का सेवन न किया जाय।
  6. प्रतिदन बादाम का सेवन किया जाय। बादाम शरीर की चर्वी कम करने का सुपरफूड है जो शरीर की वसा (चर्बी) का घटाता है जिससे वजन घटता है।
  7. मेथी एण्टी-ओबेसिटिक है तथा चपापचय (metabolism) को बढ़ाता है। रात में एक कप पानी में दो चम्मच माथी दाना डालकर रात भर भिगों दें। सुबह उठकर नित्य क्रिया से निवृत्त होकर खाली पेट उक्त मेथी दाना को खूब चबा चबा कर खा लें तथा ऊपर से उक्त मेथी दाना पानी को पी लें। इसके बाद आधा घण्टा तक कुछ न खायें। ऐसा निरन्तर करने से अनावश्यक चर्वी बर्न होकर वजन घटता है।
  8. नीबू तथा शहदयुक्त गर्म पानी को सेवन किया जाय।
  9. ग्रीन टी का सेवन किया जाय। यह एन्टी आक्सीडेन्ट होने के कारण शरीर की बीमारियो से रक्षा करता है। इसमें मौजूद कैफीन तथा कैटेकिन शरीर में ऊर्जा को बढ़ाता है। प्रतिदिन दो से तीन कप ग्रीन टी का निरन्तर सेवन वजन घटाने में कारगर है।
  10. एक कप पानी में आधा चम्मच दालचीनी डालकर उबालकर उसमें एक चम्म्च शहद मिलाकर निरन्तर सेवन करें। इससे वजन कम हो जायेगा।
  11. यथासम्भव आहार विशेषज्ञ से डाइट चार्ट बनवाएं तथा उसके अनुसार डाइट अपनाएं।
  12. खाना खाने में जल्दबाजी न करें। खाने को धीरे-धीरे तथा खूब चबा चबा कर खाएं।
  13. खाना खाते समय बीच-बीच में पानी न पिएं। ऐसा करने से मेटाबालिज्म घटता है, पाचन शक्ति खराब होती है तथा मोटापा बढ़ता है। यदि पानी पीना है तो खाना खाने के आधा घण्टे पहले पी लें या खाने के आधा घण्टे बाद पिएं। यदि खाना खाने के तुरन्त बाद पानी पीना ही चाहते हैं तो गुनगुने पानी में नीबू मिला कर ही पिएं। गर्म दूध पी सकते हैं। फल खा सकते हैं। ऐसा निरन्तर करने से पाचन शक्ति में सुधार होता है, मेटाबालिज्म बढ़ता है तथा अनावश्यक वसा घटती है और वजन कम होता है।
  14. भोजन में स्वस्थ आहार जैसे- दूध, फल, हरी सब्जियां तथा फाइबरयुक्त अनाज को सम्मिलित किया जाय।
  15. प्रोटीनयुक्त खाद्य पदार्थों (जैसे- दाल, मछली, अण्डा आदि) का सेवन किया जाय परन्तु इन पदार्थों का सेवन सीमित मात्रा में ही किया जाय।
  16. नारियल पानी तथा फलों के रस का निरन्तर सेवन किया जाय।
  17. शाम का खाना आठ बजे तक खा लें। खाना खाने के दो घण्टे बाद ही सोयें तथा सात R; आठ घण्टे की पर्याप्त निद्रा लें।
  18. खाना खाने से पहले पानी पिएं, इससे भूख कम हो जाएगी जिसके कारण ज्यादा खाना नही खाएंगे तथा मोटापे कि समस्या से बचे रहेंगें।
  19. सुबह या शाम एक निश्चित समय निर्धारित करके टहलें, साइकिल चलाएं, योगाभ्यास करें तथा कहीं आते-जाते समय लिफ्ट का प्रयोग न सरके सींढियों का इस्तेमाल करें।
  20. आधा सेब, एक खजूर तथा एक कप दूध को मिक्सी में डालकर पेस्ट बना लें और उसमें एक चम्मच अलसी पाउडर डालकर मिक्स करके नियमित सेवन करें। वजन घट जायेगा। यदि आप आंत के किसी रोग से पीड़ित हैं या रक्त को पतला करने की दवा का सेवन कर रहें हैं तो इस नुस्खे का सेवन न करें।
  21. एक गिलास दूध में एक चम्मच शहद मिलाकर उबाल लें तथा गुनगुना होने पर निरन्तर सेवन करने से वजन घट जाता है।
  22. फ्रिज का पानी न पिएं। सामान्य तापमान का शुध्द पानी भरपूर मात्रा में पिएं। शरीर में पानी की कमी न होने दें।
  23. एक कप पानी गर्म कर के उसमें ग्रीन टी का बैग डुबोएं तथा गुनगुना होने पर एक चम्मच शहद मिलाकर नियमित सेवन करें। इसके निरन्तर सेवन से वजन घटता है।
  24. मिठाई, कोल्ड ड्रिंक, चिप्स, चाकलेट, अल्कोहल, सोडा वाटर तथा आइसक्रीम का सेवन न किया जाय।
  25. नियमित पश्चिमोतानासन तथा मयूरासन किया जाय।
  26. नियमित योग तथा व्यायाम करें।
  27. जंक फूड का सेवन न करें।
  28. सन्तुलित आहार लें।
  29. तनाव मुक्त रहें।

Related Articles

Back to top button
The Knowledge Gateway Would you like to receive notifications on latest updates? No Yes

AdBlock Detected

Please Consider Supporting Us By Disabling Your AD Blocker