Home NEET रासायनिक बन्धन (CHEMICAL BOND)

रासायनिक बन्धन (CHEMICAL BOND)

70
0
- Advertisement -

रासायनिक बन्धनः

वह बल जिसके द्वारा किसी अणु में दो या दो से अधिक परमाणु एक दूसरे से बंधे रहते हैं, रासायनिक बन्धन (CHEMICAL BOND) कहलाता है। ये बन्धन रासायनिक संयोग के बाद बनते हैं और परमाणु अपने सबसे पास वाली निष्क्रिय गैस का इलेक्ट्रानिक विन्यास प्राप्त कर लेते हैं।

परमाणु बन्धन (Atomic bond)

इलेक्ट्रानों के पुनर्वितरण के परिणामस्वरूप बनने वाले बन्धन को परमाणु बन्धन (Atomic bond)  कहलाता है।

परमाणु बन्धन 03 प्रकार के होते हैंः

1- वैद्युत संयोजी बन्ध (Electrovalent bond)।

2- सहसंयोजी बन्ध (Covalent bond)।

- Advertisement -

3- उपसहसंयोजी बन्ध (Coordinate bond)।

  • वैद्युत संयोजी बन्ध (Electrovalent bond) क्या है ?

वह बन्धन जिसमें बन्ध का निर्माण इलेक्ट्रान के स्थानान्तरण के द्वारा होता है, वैद्युत संयोजी बन्ध (Electrovalent bond) कहलाता है।

  • सहसंयोजी बन्ध (Covalent bond) क्या है ?

जब दो समान या असमान परमाणु अपनी  बाह्यतम कक्षा  के इलेक्ट्रानों का आपस में साझा कर संयोग करते हैं तो उनके मध्य बनने वाले बन्ध को सहसंयोजी बन्ध (Covalent bond) कहते हैं।

  • उपसहसंयोजी बन्ध (Coordinate bond) क्या है ?

वह बन्धन जो दो परमाणुओं के मध्य एक इलेक्ट्रान जोड़ी का साझेदारी से बनता है परन्तु साझेदारी का इलेक्ट्रान जोड़ी मात्र एक ही परमाणु द्वारा होता है, उपसहसंयोजी बन्ध (Coordinate bond) कहलाता है।

उपसहसंयोजी बन्धन (Coordinate bond) में जो परमाणु इलेक्ट्रान जोड़ी प्रदान करता है उसे प्रदाता (donor) कहते हैं।

उपसहसंयोजी बन्धन (Coordinate bond) में जो परमाणु इलेक्ट्रान जोड़ी को स्वीकार करता है उसे स्वीकारक (acceptor) कहते हैं।

  • आयनिक यौगिक के गुणः

1- जलीय घोल विद्युत का सुचालक होता है।

2- आयनिक यौगिक ध्रुवीय घोल में प्रायः घुलनशील होता है।

3- द्रवणांक तथा क्वथनांक उच्च होते हैं।

4- आयनन की मात्रा उच्च होती है।

सहसंयोजी यौगिक के गुणः

1- द्रवणांक तथा क्वथनांक निम्न होते हैं।

2- ध्रुवीय घोलकों में प्रायः अघुलनशील होते हैं।

3- अध्रुवीय घोलकों में प्रायः घुलनशील होते हैं।

4- सहसंयोजी बन्धन दृढ़ तथा दिशात्मक होते हैं।

5- सहसंयोजी यौगिक आणविक रूप में रहते हैं न कि आयनिक रूप में।

6- सहसंयोजी यौगिक घोल की अवस्था में विद्युत के कुचालक होते है।

7- ताप तथा दाब की सामान्य अवस्था में प्रायः गैस, वाष्पशील द्रव एवं मुलायम ठोस पदार्थ होते हैं।

  • ध्रुवीय घोलक क्या है ?

वे घोलक जिनके परावैद्युत स्थिरांक उच्च होते हैं, ध्रुवीय घोलक कहलाते हैं। जैसे- जल।

  • जालक ऊर्जा क्या है ?

किसी क्रिस्टल के आयनों को एक दूसरे से अनन्त दूरी तक अलग करने के लिए आवश्यक ऊर्जा को जालक ऊर्जा कहते हैं।

  • सिग्मा बन्धन क्या है ?

जब दो परमाणुओं को आर्टिबल एक दूसरे से एक रैखिक अक्ष पर अति व्यापन करते हैं तब दोनो परमाणुओं के मध्य बनने वाले बन्धन को सिग्मा बन्धन कहते हैं।

  • पाई बन्धन क्या है ?

जब दो परमाणविक आर्टिकलों के पार्श्व अतिव्यापन होता है, तब इस प्रकार निर्मित बन्धन को पाई बन्धन कहा जाता है।

  • हाइड्रोजन बन्धन क्या हैं ?

वह आकर्षण जो दो HF अणुओं के मध्य वैद्युत संयोजी, सह संयोजी, उप सहसंयोजी बन्धन. सिग्मा बन्धन या पाई बन्धन से भिन्न एक नये प्रकार के बन्धन के सृजन करता है उसे हाइड्रोजन बन्धन कहते हैं।

हाइड्रोजन बन्धन मात्र क्लोरीन, आक्सीजन तथा नाइट्रोजन के यौगिकों में ही पाया जाता है, अन्य किसी तत्व के यौगिक में नही पाया जाता है।

H2S में हाइड्रोजन बन्धन नही है।

हाइड्रोजन बन्धन सहसंयोजी बन्धन से कमजोर होता है।

  • जल किस प्रकार का घोलक है ?

ध्रुवीय घोलक।

  • रासायनिक बन्धन कैसे बनते हैं ?

रासायनिक संयोग से।

  • वह कौन सा बन्धन है जो इलेक्ट्रान के स्थानान्तरण से बनता है ?

वैद्युत संयोजी बन्ध (Electrovalent bond)।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here